भारतीय रेलवे, ट्रेन, Indian Railways, Train,

रेलवे का बड़ा ऐलान, यह लोग कर सकते हैं 75% छूट के साथ कहीं पर भी सफर, बैठ जाए किसी भी डिब्बे में

रेलवे का बड़ा ऐलान, यह लोग कर सकते हैं 75% छूट के साथ कहीं पर भी सफर, बैठ जाए किसी भी डिब्बे में: भारतीय रेलवे में करोड़ों लोग रोजाना यात्रा करते हैं जिसके माध्यम से रेलवे को काफी कमाई भी होती है वहीं रेलवे ट्रेन में जितना ज्यादा यात्रा करना आसान और आरामदायक होता है कंफर्म टिकट का लेना उतना ही ज्यादा मुश्किल भी होता है. हालांकि अपनी टिकट को कंफर्म करवाने के लिए लोग अच्छी खासी रकम भी देने के लिए तैयार हो जाते हैं लेकिन उसके बावजूद भी रेलवे ऐसे कई लोगों को टिकट में भारी छूट दे देता है और उन लोगों को 75% तक की छूट मिल जाती है लिए जान लेते हैं कि कैसे मिलती है यह सुविधा.

भारतीय रेलवे हमेशा ही मानसिक रूप से विकलांग या फिर विकलांग लोगों को पूरी तरीके से ट्रेन टिकट पर छूट भी देते हैं जो बिना किसी मदद की यात्रा कर्ज नहीं कर सकते ऐसे ही यात्रियों को स्लीपर जनरल और थर्ड एसी में 50% तक की छूट दी जाती है वहीं यदि सेकंड और फर्स्ट एसी की बात करें तो इसमें भी इन लोगों को 50% तक की छूट दी जा रहे हैं ऐसे में यदि यह लोग राजधानी या फिर शताब्दी में यात्रा करते हैं तो सभी प्रकार के टिकट पर 25% तक की छूट दी जाती है इस तरीके से इन यात्रियों के साथ ट्रेन में यात्रा करने वाले व्यक्ति को भी सामान छूट दी जाती है.

इसके साथ ही भारतीय रेलवे किडनी कैंसर रोगियों और गैर संचारी रोगों से पीड़ित लोगों को भी छूट प्रदान करता है इस सूची में हृदय रोग से पीड़ित मरीजों को भी जोड़ा गया है वहीं दूसरी ओर ट्रेन में यात्रा करने वाले छात्र, युद्ध विधवाएं, आईपीकेएफ विधवाएं, कारगिल शहीदों की विधवाएं, आतंकवादियों और चरमपंथियों के खिलाफ कार्रवाई में मारे गए रक्षा कर्मियों की विधवाएं, राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता शिक्षक, श्रम पुरस्कार विजेता औद्योगिक श्रमिक, आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई में शहीद पुलिसकर्मी विधवाओं, पुलिस पदक पुरस्कार विजेताओं, द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता कोचों और खिलाड़ियों आदि लोगों के द्वारा भी विशेष नियम के तहत ट्रेन टिकट की दरों में छूट दी जाती है.