Breaking News

जब बॉलीवुड के नवाब सैफ अली खान के बेटे तैमूर के न्‍यूट्रशनिस्‍ट ने बताइए ये 4 काम करने वाले बच्चे नहीं होते कभी बीमार, जाने क्या….

माता-पिता की पूरी दुनिया या यूं कहें कि पूरा दिन बस उनके बच्चे के इर्द-गिर्द ही घूमता रहता है। माता-पिता सोचते रहते हैं कि बच्चे को क्या खिलाएं, कहां पढ़ाएं, उसके लिए क्या सही है और क्या गलत। आज के समय में बच्चों के लिए सबसे जरूरी चीज है बच्चों की इम्युनिटी। जी हां, आज बीमारियों और संक्रमण का खतरा काफी बढ़ गया है और ये चीजें मानसून के दौरान ज्यादा हावी रहती हैं. जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है, खासकर बच्चों में बीमारियों या संक्रमण का खतरा अधिक होता है। यही कारण है कि माता-पिता अक्सर बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को लेकर तनाव में रहते हैं कि क्या करें।

सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता देवेकर ने अपनी ऑडियो बुक ‘सीक्रेट्स ऑफ गुड हेल्थ’ में मानसून के दौरान बच्चों की इम्युनिटी बढ़ाने के टिप्स दिए हैं ताकि बारिश के मौसम में बच्चे को मौसमी बीमारियों, एलर्जी और अन्य समस्याओं से दूर रखा जा सके।

अगर आपके बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता पहले से ही कमजोर है या वह बार-बार बीमार पड़ता रहता है तो आपको रुजुता के इन टिप्स को बहुत गंभीरता से लेना चाहिए और आज से ही इनका पालन करना शुरू कर दें।

भीगे हुए सूखे मेवे

रुजुता का कहना है कि बाल दिवस की शुरुआत इन तीनों में से किसी एक चीज से करनी चाहिए। ताजे फल या भीगे हुए बादाम या भीगे हुए काले किशमिश केसर की एक या दो किस्में। सुबह बच्चे को कोई फल खिलाएं या उसे सूखे मेवे खिलाएं। इससे न सिर्फ बच्चे का एनर्जी लेवल हाई रहता है, बल्कि ड्राई फ्रूट्स उसकी इम्युनिटी को भी बढ़ाते हैं। बादाम एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करते हैं और कोशिकाओं को नुकसान से बचाते हैं। इनमें आयरन और प्रोटीन होता है जो इम्यून सिस्टम को स्वस्थ रखता है।

आंवला की खुराक, प्रतिदिन

रुजुता कहती हैं कि आंवला रोज खाना चाहिए। आंवला से कई स्वास्थ्य समस्याओं को ठीक किया जा सकता है। आंवला संक्रमण से लड़ता है और उच्च विटामिन सी के कारण होने वाले सिरदर्द या चक्कर की समस्या को दूर करता है। यदि आपका बच्चा आंवला खाने से हिचकिचाता है, तो आप उसे च्यवनप्राश, आंवला का अचार, शरबत या मुरब्बा खिला सकते हैं।

खेलो और व्यायाम करो

रुजुता का कहना है कि अगर बच्चे बारिश में खेलने के लिए बाहर नहीं जा सकते हैं तो उन्हें घर के अंदर कुछ एक्टिविटी करनी चाहिए। रुजता का कहना है कि हर बच्चे, खासकर लड़कियों को दिन में कम से कम 90 मिनट स्पोर्ट्स जरूर करना चाहिए।

बॉन घनत्व के लिए आवश्यक

रुजुता का कहना है कि अगर आप एक साथ 90 मिनट नहीं खेल सकते हैं तो 60 मिनट का खेल जरूर करें। इससे हड्डियों का घनत्व बढ़ता है और फिर स्वास्थ्य अच्छा रहता है। लगभग 90 प्रतिशत अस्थि घनत्व बचपन में बनता है, इसलिए बच्चों को इस समय 90 मिनट अवश्य खेलना चाहिए।

घर का खाना

बरसात के मौसम में बाहर का खाना बिल्कुल भी सेहत के लिए ठीक नहीं होता है। रुजुता कहती हैं कि बच्चों को खाने में आपको कई विकल्प देने चाहिए। घर में बना अच्छा, सेहतमंद और पौष्टिक खाना खिलाएं। बच्चे अगर कैचप मांगते हैं तो उन्हें चटनी दें क्योंकि चटनी में कई पोषक तत्व होते हैं।

About khabarbharattak

Check Also

जब खुले गले की ड्रेस पहन इस एक्ट्रेस ने लाज शर्मा की तोड़ी सारी हदें, झुक झुक दिखाने लगी बॉडी पार्ट्स….

भोजपुरी अभिनेत्री मोनालिसा हमेशा ही अपनी खूबसूरत अदाओं से हर किसी का दिल जीत लेती …

Leave a Reply

Your email address will not be published.