Breaking News

वीडियो: सरकारी आवास पर पढ़ाया गया इस्लाम का पाठ, सुनाई गई मनगढ़ंत कहानियां

पिछले कुछ समय से देश के अंदर कुछ अजीबो-गरीब खबरें सामने आ रही है! ऐसा कोई भी राज्य नहीं छिपा हुआ रह गया है जहां से इस तरह की की खबरें नहीं आ रही है! हम बात कर रहे हैं धर्म बद लने की खबरों को लेकर! यह ऐसा मुद्दा हो गया है जिस पर अब चिंता होना तो लाजमी हो गया है! व

हीं अब एक वीडियो सामने आया है जो कि सीनियर आईएएस इफ्तिखारउद्दीन का है! सामने आए इस वीडियो के अंदर आईएएस अधिकारी अपने ही सरकारी निवास में एक धर्मगुरु के साथ दिखाई दे रहे! जिस जहां वह लोगों को इस्लाम धर्म अपनाने के फायदे गिनाते हुए नजर आए हैं!

वहीं इसके साथ ही इस वीडियो के अंदर एक शख्स इन लोगों को कई मनगढ़ंत कहानियां भी सुना रहा है! लोगों को बताया जा रहा है कि इस्लाम धर्म में बहन बेटियों को ज लाया नहीं जाता! इसके साथ उत्तर प्रदेश को एक ऐसा सेंटर बताया गया है जहां से वह पूरे देश और दुनिया में अपना काम कर सकते हैं!

सीनियर आईएएस की ओर से लोगों को इस्ला मिक कट्ट रता का पाठ पढ़ाया जा रहा है और लोगों से कहा जा रहा है कि ऐलान करो कि दुनिया में इंसानों से कि अल्लाह की बात साहब और निजामिया पूरी दुनिया में कायम करनी है!

वक्ता ने सुनाई कहानी

वहां पर मौजूद लोगों को जब पाठ पढ़ाया जा रहा था तो उस समय सीनियर आईएएस जमीन पर बैठे हुए थे और इस दौरान इस्ला मिक वक्ता ने लोगों को एक कहानी सुनाते हुए कहा कि पिछले दिनों पंजाब में एक भाई ने इस्लाम कबूल किया था तो मैंने उसको बुलाया नहीं दी थी मैंने उनसे कहा कि इस्लाम कबूल क्यों किया तुमने?

इसके आगे वक्ता ने बताया है कि अपनी बहन के निधन के कारण उसने इस्लाम कबूल किया! जब उसकी बहन का निधन हो गया तो उसको ज लाया गया तो कपड़ा भी ज ल गया वह नि र्वस्त्र हो गई सब देख रहे थे मुझको बेहद मैं वहां से निकल गया! फिर मैंने सोचा कि आज तो मेरी बहन को देख रहे हैं कल मेरी बेटी को भी देखेंगे! कल उसको भी लोग ऐसे ही देखते रहेंगे! निधन के बाद वह भी ऐसे ही ज लेगी फिर मेरे दिल में ख्याल आया कि इस्लाम से अच्छा और कोई धर्म ही नहीं है मुझे कबूल कर लेना चाहिए!

उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम ने दी प्रतिक्रिया

वहीं इस पूरे मामले पर उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने भी अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है! उनका कहना है कि यह मामला काफी गं भीर है अगर ऐसा कुछ है तो इसको गंभीरता से लिया जाएगा! मठ और मंदिर समन्वय समिति के अध्यक्ष भूपेश अवस्थी ने इस मामले की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी शिकायत की है!

Check Also

Google ने दिया भारत की जनता को बड़ा तोहफ़ा, सबसे प्राचीन भाषा संस्कृत समेत भोजपुरी, और मैथली भाषा को गूगल ट्रांसलेट में शामिल किया।

जैसा की आप सबको मालूम है संस्कृत हमारी सभ्यता की सबसे पुरानी भाषा है और …

Leave a Reply

Your email address will not be published.