अजब-गजबदेश

वृद्धाश्रम,अनाथालय,गौशाला से लेकर लड़कियों की शिक्षा तक में सहयोग: जरूरतमंदों के लिए हमेशा खड़े रहते थे अभिनेता पुनीत राजकुमार

Support from old age homes, orphanages, gaushalas to girls' education: Actor Puneet Rajkumar always stood for the needy

मशहूर अभिनेता पुनीत राजकुमार जोकी कन्नड़ फिल्मों के जाने-माने अभिनेता उनका 29 अक्टूबर 2021 को निधन हो गया वह अभी मात्र 46 वर्ष के थे वहीं उनके निधन का कारण हार्ट अटैक बताया जा रहा है उनके निधन से फिल्म जगत में शोक की लहर है! वही बता दे कि पुनीत राजकुमार दक्षिण भारतीय फिल्मों में सबसे महंगी कलाकारों में से एक थे उनके चाहने वालों में समाज का हर एक तमका शामिल था हालांकि पुनीत राजकुमार के जीवन का एक बेहद ही सकारात्मक और भावनात्मक पहलू भी हैं वही वह परोपकारी स्वभाव के थे जो जरूरतमंदों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहते थे!

वही पुनीत राजकुमार की सबसे बड़ी खासियत यह थी कि वह अपने किए गए नए कार्यों का भी कभी प्रचार नहीं किया करते थे वह सामाजिक संस्थाओं को दिल खोलकर मदद किया करते थे जब देश महामारी से जूझ रहा था तब भी उन्होंने ₹5000000 का सहयोग किया था यह पैसे हूं उन्होंने कर्नाटक की सरकार को रिलीफ फंड के लिए दिए थे!

ना तो केवल आर्थिक मदद बल्कि पुनीत राजकुमार ने महामारी के खिलाफ जागरूकता अभियान में भी सक्रियता दिखाई थी साल 2020 से 2021 तक वह महामारी के विरुद्ध जागरूकता के कई कार्यक्रमों में भागीदार रखे हैं वहीं पुनीत के समाज के लिए दिए गए योगदान को कर्नाटक के तत्कालीन मुख्यमंत्री बीएस येदुरप्पा ने भी सराहा था तब उन्होंने अधिकारी टि्वटर हैंडल से ट्वीट करके पुनीत राजकुमार के जन कल्याण में किए गए कार्यों के बारे में बताया था और यह ट्वीट 31 मार्च 2020 को किया गया था!

वहीं जब कोरोनावायरस अपने चरम पर था तब पुनीत बेंगलुरु की पुलिस के साथ मिलकर इसके खिलाफ लड़ रहे थे वही यह अभियान उनका कोरोनावायरस की दूसरी लहर के दौरान का था इसी के साथ उन्होंने अपनी फिल्म इंडस्ट्री के साथियों को उन तमाम लोगों की मदद करने के लिए भी प्रोत्साहित किया था जिनकी नौकरियां या काम धंधे पर बुरा प्रभाव पड़ा था!

साल 2019 में उत्तरी कर्नाटक में बाढ़ आई थी उस समय भी अभिनेता ने लोगों की मदद के लिए अपने हाथ आगे किए थे उन्होंने उस समय के मुख्यमंत्री सहायता कोष में ₹500000 का दान किया था और इसी के साथ उन्होंने 26 अनाथ आश्रम और 16 वृद्धाश्रम के साथ-साथ 19 गोशालाओ के संचालन में भी सहयोग किया था कुछ ही समय पूर्व दिए गए अपने इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि वह गानों से मिला पैसा इन कामों के दे देते हैं वही पुनीत राजकुमार कई कन्नड़ भाषी स्कूलों को भी चलाने में सहयोग करते थे!

इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने अपनी माता के साथ मिलकर मैसूर में शक्ति धाम नाम से आश्रम भी चलाते थे इस आश्रम के जरिए वह हजारों लड़कियों की पढ़ाई के लिए संसाधनों का इंतजाम किया करते थे यह एक चैरिटेबल संस्था है और इन संस्था में पी ड़ितों की मदद मानव त स्करी के विरुद्ध अभियान वेश्या वृत्ति के खिलाफ कार्य भी किए जाते रहे वहीं एक अनुमान के अनुसार अभी तक लगभग 4000 महिलाएं यहां से लाभान्वित हुई है!

मिल रही जानकारी के अनुसार अभिनेता पुनीत राजकुमार ने अपनी आंखें दान की है ऐसा ही उनके पिता डॉक्टर राजकुमार ने भी किया था कहा तो यह जा रहा है कि पुनीत राजकुमार के निधन के बाद नारायण नेत्रालय के डायरेक्टर को पुनीत के घर से फोन किया गया था यह फोन उनके भाई ने किया था फोन मृ त देह से आगे ले जाने के लिए किया गया था!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button