Breaking News

खाटूश्याम जी के फाल्गुन मेले के बारे में श्याम भक्तो को जरूर जानना चाहिए।

हारे का सहारा बाबा श्याम हमारा का फाल्गुन लक्खी मेला 6 मार्च 2022 से शुरू होने वाला वही राजस्थान के सीकर जिले में खाटूश्यामजी कस्बे में बनने वाले खाटू फाल्गुनी लक्खी मेला के लिए तैयारियों का अंतिम रूप दिया जा रहा है वहीं मेले में बाबा श्याम के दरबार में शीश झुकाने के लिए देशभर से लाखों श्रद्धालु आने वाले हैं!

बता दे कि साल 2022 का खाटू मेला 6 मार्च से शुरू होकर 15 मार्च तक भरेगा वही 15 मार्च तक ज्यादातर श्रद्धालु अपने घर लौट जाएंगे लेकिन बड़ी संख्या में श्याम भक्त मेला समाप्ति के बाद भी खाटू में रुकेंगे जो 18 मार्च को बाबा श्याम के साथ होली खेल कर ही वापस आएंगे वहीं साल 2020 में आई कोरोनावायरस का असर खाटू मेला पर भी पड़ा है! दरअसल कोविड-19 संक्रमण को देखते हुए सीकर जिला प्रशासन ने खाटू श्याम जी मेले में कई सारी पाबंदी अभी लगाई है!

खाटूश्यामजी मेले के लिए तैयारियां

– इस बार भी भजन संध्या, डीजे व भंडारों पर रोक रहेगी! श्रद्धालुओं को स्वयंसेवी संस्थाएं सिर्फ पेय पदार्थ वितरित कर सकेंगी!

– मेले में जाने वाले श्रद्धालुओं को सुविधा देने के लिये रोडवेज ने कुल 90 बसें लगाई हैं!

– ये 90 बसें 11 से 15 मार्च के बीच सीकर, अलवर, नीमकाथाना, जयपुर और दिल्ली मार्ग पर चलेंगी!

-जयपुर-झुंझुनूं-हिसार मार्ग, खाटूश्यामजी-कोटपूतली मार्ग, खाटूश्यामजी-नीमकाथाना मार्ग, खाटूश्यामजी-जयपुर मार्ग और खाटूश्यामजी-दिल्ली मार्ग मुख्य हैं!

खाटूश्यामजी मेला 2022 में ये भी की गईं व्यवस्थाएं

-इस बार बाबा श्याम की रथ यात्रा संक्षिप्त रहेगी।

-खाटू मेले में पार्किंग व्यवस्था निशुल्क रहेगी।

-धर्मशाला में दस प्रतिशत कमरे प्रशासन के लिए आरक्षित रहेंगे।

-दूध की व्यवस्था के लिए डेयरी के 15 बूथ लगाए जाएंगे।

-मंदिर कमेटी दो बड़ी व दो छोटी फायर ब्रिगेड की व्यवस्था करेगी।

-पीडब्ल्यूडी को सड़कों के गडढ़े ठीक करने के निर्देश।

-नगरपालिका प्रशासन को खाटू से आवारा पशुओं को बाहर छोड़ने को कहा।

Check Also

जाने कितने करोड़ रु को संपत्ति छोड़कर गए (प्रवीण कुमार) महाभारत के भीम अपने बच्चो के लिये।

बी आर चोपड़ा के द्वारा बनाई गई महाभारत तो आप लोगों को याद ही होगी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.