अजब-गजब

कुली से IAS का सफर तय किया श्रीनाथ ने, फ्री WiFi से पास की UPSC की कठिन परीक्षा

Shrinath traveled from porter to IAS, cleared UPSC exam with free WiFi

आज के वक्त में हर इंसान कामयाबी के पीछे भाग रहा है और बुलंदियों को छूने की इच्छा रखता है लेकिन बता दें कि सिर्फ चाहने से सफलता नहीं मिलती, इसके लिए दिन रात कठिन परिश्रम करना पड़ता है और सफलता के मार्ग में आने वाले उतार-चढ़ाव का सामना भी बखूबी करना पड़ता है. ज्यादातर देखा गया है कि बाधाओं के सामने इंसान को उठने टेक देता है और जीवन में सफल नहीं हो पाता वहीं कुछ लोग ऐसे होते हैं जो न सिर्फ लक्ष्य दिखाई देता है और हर कठिनाई का सामना पूरी हिम्मत से करते हैं और अंततः उन्हें सफलता हासिल भी होती है.

आज हम जिस शख्स के बारे में बात कर रहे हैं वह कोई और नहीं बल्कि रेलवे स्टेशन पर गोली का काम करने वाला एक इंसान है और आज उस मेहनती इंसान ने यूपीएससी की परीक्षा पास कर आईएएस बनने का सपना पूरा कर दिखाया है. बता दें कि संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित यूपीएससी की सिविल सर्विस परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षा में से एक है और इस परीक्षा को पास करना बिल्कुल सरल काम नहीं है. हर वर्ष लाखों लोग इस परीक्षा को देते हैं परंतु गिने-चुने धुरंधर अंतिम रूप से चयनित हो पाते हैं. बता दें कि उन्हीं धुरंधरों में शामिल हैं श्रीनाथ. श्रीनाथ ने कठिन परिश्रम कर आईएएस की परीक्षा पास कर ली और लाखों छात्रों को यह सीख भी दे दिया कि हर परिस्थिति में एक रास्ता तलाशा जा सकता है और कामयाब हुआ जा सकता है.

बता दें कि श्रीनाथ का ताल्लुक बेहद गरीब परिवार से हैं और आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण श्रीनाथ अर्नाकुलम रेलवे स्टेशन पर कुली का काम करते थे. वर्ष 2008 शिवा मेहनत करके एक अच्छी नौकरी प्राप्त करेंगे और अपने बेटी का भविष्य सुनहरा बनाएंगे. श्रीनाथ ने यूपीएससी की तैयारी करने की तो सोच ली लेकिन उनकी आर्थिक स्थिति उनके सफलता के मार्ग में बाधा बन रही थी और कोचिंग सेंटर को फीस देने के पैसे उनके पास नहीं थे परंतु उन्होंने हार नहीं मानी और निरंतर प्रयास करते रहे.

बताते चलें कि सैनाथ कायस बनने का सपना चौथे प्रयास में पूरा हुआ. शुरुआत में श्रीनाथ ने केरला लोक सेवा आयोग परीक्षा की तैयारी करनी शुरू की थी और उन्होंने रेलवे स्टेशन पर लगे मुफ्त वाईफाई की सहायता लेनी शुरू की थी. श्रीनाथ कुली का काम करने के बाद खाली समय में ऑनलाइन लेक्चर देखा करते थे और उनका यही जज्बा था कि उन्होंने KPSC की परीक्षा पास कर ली थी. श्रीनाथ सिर्फ केरल भर में नहीं रुकने वाले थे और उन्होंने अपने चौथे प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा में भी कामयाबी हासिल कर ली और उनकी कहानी इंटरनेट पर खूब वायरल होती है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button