अजब गजबबॉलीवुड

शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान मामले में समीर वानखेड़े को मिली बड़ी जीत।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

इन दिनों शाहरुख खान और उनके बेटे आर्यन खान दोनों ही चर्चा में आ गए हैं हालांकि शाहरुख खान तो अपनी फिल्म जवान को लेकर काफी चर्चा में बने हुए हैं जिसके चलते अभिनेता की काफी तारीफ हो रही हैं वहीं दूसरी और अब उनका बेटा आर्यन खान ही चर्चा में आ चुका है. वजह साल 2021 की है वानखेड़े ने ड्रग्स भंडाफोड़ मामले में गिरफ्तारी की थी और जांच की थी दरअसल अब एनसीबी के पूर्व अधिकारी समीर वानखेड़े पर स्टार्किड की गिरफ्तारी के बाद रिश्वत लेने का आरोप लगा था और इस मामले को अदालत में ले जाया गया था लेकिन अब तो समीर वानखेडे को लेकर खबर सामने आ रहे हैं यह मामला जीत लिया और एनसीपी अधिकारी समीर ने कार्रवाई की थी उन पर शाहरुख खान से 25 करोड़ की रिश्वत लेने का आरोप था.

साल 2021 में शाहरुख खान के बेटे पर रखने का सेवन करने और खरीदने बेचने का आरोप लगा हुआ था जिसकी वजह से वह मुसीबत में लेकिन बाद में एनसीपी की विशेष जांच टीम ने आर्यन खान को क्लीन चिट दे दी थी वही एनसीबी के निदेशक सहित अन्य लोगों पर बाद में आपराधिक साजिश और जबरन वसूली की धमकी के आरोप के मामले भी दर्ज किए गए थे.

इस मामले में शाहरुख खान के बेटे को जानबूझकर फंसाने और उनसे 25 करोड़ की रिश्वत की मांग को लेकर ही एनसीबी के पूर्व रीजनल डायरेक्टर समीर वानखेडे और अन्य चार के खिलाफ सीबीआई ने मामला दर्ज कर लिया गया था उन पर कथित आपराधिक साजिश एवं जबरन वसूली की धमकी के अलावा रिश्वतखोरी के भी आरोप लगाए गए हैं इसको लेकर केस चल रहा था और वानखेड़े तो अब अदालत ने क्लीन चिट भी दे दी है.

इन मामलों में कैट ने अहम फैसला सुनाया है. वानखेड़े को आर्यन खान मामले में रिश्वतखोरी के आरोप से बरी कर दिया गया है। कैट ने अपने आदेश में कहा है कि वह निर्दोष हैं. इस संबंध में केंद्रीय प्रशासनिक न्यायाधिकरण यानी कैट ने अपने आदेश में कहा है कि एनसीबी निदेशक ज्ञानेश्वर सिंह वानखेड़े के कुछ मामलों के लिए नियुक्त जांच समिति का हिस्सा नहीं थे. क्योंकि यह नहीं कहा जा सकता कि सिंह को वानखेड़े द्वारा की गई कार्रवाई और उनके द्वारा की गई जांच की पूरी जानकारी थी.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button