Breaking News

बागपत में साजिद ने मुदस्सिर को किया बेनक़ाब

Sajid exposes Mudassir in Baghpat: उत्तर प्रदेश के बागपत जिले के बड़ौत में मुस्लिम युवकों की हिंदू लड़कियों से शादी कराकर धर्मां तरण को लेकर मुस्लिम समुदाय के एक युवक ने स्थानीय इमाम पर बड़ा खुलासा किया है. बड़ौत के हिलवाड़ी गांव निवासी साजिद ने पुलिस को अपनी शिकायत में बताया कि 26 अगस्त 2021 को इमाम मुदस्सिर मेरी मस्जिद के पास स्थित किराने की दुकान पर आया और उससे कहा कि मुस्लिम लड़के दुकान पर आते-जाते रहेंगे. उनमें से उन मुस्लिम लड़कों के बारे में बताओ जिनका हिंदू लड़कियों के साथ अफेयर चल रहा है, ऐसे लड़कों को मेरे पास भेज दो, वह उन्हें पैसे देगा और उनकी शादी कर देगा और लड़की का धर्मां तरण कर देगा।

जब साजिद ने पुलिस को बताया कि उसने इमाम मुदस्सिर को ऐसा करने से मना कर दिया, तो इमाम ने उसे परिणाम भुगतने और द बंग लड़कों के साथ रहने की बात करते हुए देखने की धम की दी। बताया जा रहा है कि साजिद इस मामले में कार्रवाई करना चाहता था, इसलिए उसने स्थानीय थाने या बड़ौत पुलिस के बजाय सीधे एसपी कार्यालय में शिकायत की. साजिद ने पूरे मामले की लिखित शिकायत सोमवार को एसपी कार्यालय में की थी.

साजिद ने अपनी शिकायत में बताया कि इमाम मुदस्सिर मुस्लिम लड़कों को बहला-फुसला कर पैसे का लालच देता है, हिंदू लड़कियों को अपने प्रेम जाल में फंसाता है और फिर धर्म परि वर्तन के लिए दबाव बनाकर उनकी शादी करवा देता है. इस मामले में एएसपी मनीष कुमार ने बताया कि साजिद की शिकायत के आधार पर सीओ क्राइम हरीश भदौरिया पूरे मामले की जांच कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि इस मामले में सीओ क्राइम ने सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए जांच शुरू कर दी है.

बता दें कि सोमवार की देर शाम साजिदा का पुलिस को शिकायती पत्र और उनकी फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. वहीं साजिद की मां शबीना ने बताया कि उनका बेटा सीधा है और वह गांव में ही किराना की दुकान चलाता है. एक अन्य व्यक्ति ने अपने बेटे से शिकायत की है। लेकिन पुलिस ने उनके बेटे को हिरासत में ले लिया है. जबकि मेरे बेटे का इससे कोई लेना-देना नहीं है।

Check Also

नुपुर शर्मा पर दिए बयान पर सुप्रीम कोर्ट की लोगो ने लगा दी क्लास,किसी ने कहा कोठा तो किसी ने…

सुप्रीम कोर्ट ने निलंबित बीजेपी नेता नूपुर शर्मा को पैगंबर मोहम्मद के बारे में उनकी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.