बॉलीवुड

द्रौपदी के चीर हरण के शूट पर असल मे रो पड़ी थी रूपा गांगुली,ये थी बड़ी वजह

Roopa Ganguly actually cried on the shoot of Draupadi's Cheerharan, this was the big reason

बी आर चोपड़ा की महाभारत तो हर किसी ने देखी होगी वही इस धारावाहिक में जितने भी कलाकार थे वह आज भी लोगों के दिल में उसी तरीके से बसे हुए हैं जिस तरीके से इस धारावाहिक में उनको फिल्माया गया है! वही 90 के दशक में रामायण के बाद अगर कोई सीरियल लोगों को पसंद आया था तो वह था महाभारत और इसका अन्य किरदार हमेशा के लिए अमर भी हो गया है यहां तक कि इस शो की नकारात्मक किरदार निभाने वाले कलाकारों को भी तो खत्म होने के बाद भी लोग उसी नजर से देखने लग गए थे, मानों की हर किरदार उसकी यही बना हो!

वही महाभारत में एक किरदार द्रोपदी का भी था जो कि काफी ज्यादा प्रसिद्ध हुआ था इस किरदार को रूपा गांगुली ने निभाया था लेकिन द्रौपदी का किरदार निभाना भी इतना आसान नहीं था खासतौर पर जब जब चीर हरण का सीन फिल्माया जा रहा है तो ऐसे में रूपा गांगुली खुद को रोने से नहीं रोक पाई थी तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि महाभारत में कैसे शूट किया गया था इस सीन को-

वैसे तो रूपा गांगुली ने द्रोपदी का किरदार बड़ा ही बखूबी तरीके से निभा रही थी और फिर उनको बताया गया कि द्रोपदी के चीर हरण का देश से भी फिल्माया जाएगा ऐसे में बी आर चोपड़ा ने रूपा से कहा था कि अगर किसी महिलाओं को भरी सभा में उसके बाद खींचकर लाया जाए और उसके कपड़े उतारे जाए तो उस पर क्या बीतेगी बस रूपा गांगुली यही सोचकर सीन देना है तो यह बात सोच कर रुपए पूरी तरीके से घबरा गई!

ऐसे में रूपा गांगुली ने पहले ही टेक में चीन तो पूरा किया था और वह सीन के अंदर इतना खो गई थी कि डायरेक्टर को एक भी रिटर्न देने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी वहीं इस दृश्य की पूरे हो जाने के बाद रूपा गांगुली आधे घंटे तक रोती रही थी उनके लिए इस दृश्य को फिल्माने बेहद ही दर्दनाक था और बाद में तमाम लोगों के समझाने के बाद वह चुप हुई!

वही आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दुर्ग जी के चीर हरण को परफेक्ट बनाने के लिए 250 मीटर की साड़ी का इस्तेमाल किया गया था ताकि एक ही टेक में पूरा सीन फिल्माया जा सके और वही गांगुली को इस सीन को फिल्माने के लिए लगातार गोल गोल घूमना पड़ा था!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button