देश

NDTV से रवीश कुमार का इस्तीफा, Zee News में अंबानी-अडानी के विज्ञापनों को पहुंचाएंगे जनता तक

Ravish Kumar resigns from NDTV, will take Ambani-Adani advertisements in Zee News to the public

भारत की समाचार एजेंसी एनडीटीवी को लेकर इस समय 2 खबरें सामने आ रही है एक खबर में तो एनडीटीवी बिकने को तैयार है यह पता चल रहा है और उसकी कीमत मात्र ₹1600 करोड़ लगाई गई है! वही एक और खबर सामने आ रही है जिससे मालूम चल रहा है कि एनडीटीवी के पत्रकार रवीश कुमार एनडीटीवी से इस्तीफा दे चुके हैं!

वहीं दूसरी ओर वाम पंथी लोग इसको सामान्य खबर मांग कर दिल बहला रहे हैं तो कई लोग कोई और आएगा झंडा बुलंद करेगा जैसे गीत गा रहे हैं रवीश कुमार एनडीटीवी से इस्तीफा दे चुके हैं और उनके लिए ऐसी बात? क्योंकि हमेशा की तरह ही वाम पंथी फिर से गलत है! रवीश कुमार हिंदी मीडिया के एकमात्र पत्रकार है इसमें तो कोई शक नहीं है उनसे तेरा मेरा रिश्ता क्या भले ही खराब है लेकिन अपने भाई पर लगे बला त्कार आ रोप के समय जैसी ग्राउंड रिपोर्टिंग उन्होंने की थी उसका कर्ज शायद ही हिंदुस्तानी मीडिया कभी चुका पाएंगे!

साल 2015 में रवीश कुमार ने यह गाना गाया था! रवीश ने तब प्यार से इस्तीफा को इस्तीफ़ू बुलाते हुए गाना गाया था… “अभी न जाओ छोड़ कर कि दिल अभी भरा नहीं।” 2015 की चीज को अभी क्यों याद करवा रहा हूँ? कारण है। दुख, तकलीफ, दर्द… वो सब जो रवीश ने NDTV में रहते हुए झेला। कैसे? “तुम्हें कभी न लिख पाने वाला एक पत्रकार” – इस कारण की बात कर रहा था मैं। इस्तीफ़ू पर पत्र लिख कर रवीश ने निशाना किसी और पर साधा था लेकिन हस्ताक्षर करते वक्त ‘मन की बात’ लिख ही डाली थी। ध्यान से पढ़िए, इसमें दर्द है, अफसोस है।

ज़ी न्यूज़ से एनडीटीवी की खबर

वही आपको पहले बता देती यह एक सोर्स वाली खबर है इसमें मुझे भीतर तक की खबर नहीं है लेकिन सोर्स है बहुत दमदार! रविश कुमार और सुधीर चौधरी दोनों को दाय-दाय लेकर चलता है शिवसेना की तरह कांग्रेस हो या बीजेपी कुर्सी पकड़ कर चलता है! एनडीटीवी और अडानी के बीच डील की खबर रवीश कुमार को लग गई थी वह बड़े पत्रकार है लगनी भी चाहिए लेकिन पत्रकारिता पर दाग न लग जाए इसलिए रवीश कुमार ने इस्तिफु दे दिया! क्यों?

वही क्योंकि रामदेव के विज्ञापन को एनडीटीवी पर रवीश झेल जाते थे अदानी को कैसे खेलते इसका रास्ता नहीं दिखा यह भी गवारा नहीं कि हर दिन स्कीम खाली ही कर दी जाए क्योंकि टीवी नहीं देखने के लिए रवीश कुमार हमेशा बोलते रहे थे रहे हैं एनडीटीवी नहीं देखने पर आज तक नहीं बोले हैं! इसलिए इस्तीफ़ू दे दिया। लेकिन खबर इस्तीफ़ू के पहले की है। दमदार सोर्स ने बताया कि इस्तीफ़ू से पहले वो Zee News के ऑफिस आकर सुधीर चौधरी से मिले और प्राइम टाइम बुक कर लिए। बस एक शर्त माननी पड़ी। उनके शो में Adani Wilmar के फॉर्च्यून कड़ुआ तेल का विज्ञापन साथ-साथ चलता रहेगा… हेहेहे!

सोर्स – ऑपइंडिया

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button