कंगना रनौत के बयान से मच गया हंगामा बोली नौजवान गाँधीवादी नही बल्कि सुभाषचंद्र वादी बने…

8 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सेंट्रल विस्टा एवेन्यू प्रोजेक्ट का उद्घाटन कर दिया है! वही इस प्रोग्राम में तमाम नेता और सितारे भी शामिल हुए थे ऐसे में बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत भी कर्तव्य पथ के उद्घाटन में शामिल होने के लिए दिल्ली पहुंची है वहीं अभिनेत्री ने रिपोर्टर से बात करते हुए कहा कि वह गांधीवादी नहीं बल्कि नेता वादी है वहीं अभिनेत्री ने कहा कि फ्रीडम फाइटर नेताजी सुभाष चंद्र बोस और वीर सावरकर के स्ट्रगल को पूरी तरीके से नकार दिया गया है साथ ही अभिनेत्री ने कहा है कि भारत को आजादी केवल हड़ताल और दांडी मार्च करने से नहीं मिली है!

अभिनेत्री ने यह भी कहा है कि मैं हमेशा से ही कहती आई हूं कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की फलों व नेता वादी हूं ना कि गांधीवादी कुछ लोगों को मेरे बोलने से काफी दिक्कत होती है हर किसी को अपनी अलग विचारधारा होती है और मुझे लगता है कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस और वीर सावरकर जैसे दूसरे क्रांतिकारियों को पूरी तरीके से नकार दिया गया है केवल महात्मा गांधी की साइड को ही दिखाया गया है कि आप मुझे एक गाल पर थप्पड़ मारोगे तो मैं दूसरा गाल आगे कर दूंगा केवल यही बताया गया है कि हमें आजादी दांडी मार्च और भूख हड़ताल करने से मिली है लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है!

अभिनेत्री कंगना आगे कहती हैं कि मैं उन लोगों में से एक हूं जो कहते थे कि तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा नेताजी सुभाष चंद्र की मूर्ति नहीं बल्कि एक विचारधारा है मैं कभी भी गांधीवादी नहीं रही मैं तो नेता वादी रही थी हमें यह आजादी नेताजी और वीर सावरकर जैसे क्रांतिकारियों की वजह से मिल गई है हमें यह आजादी ऐसे ही नहीं मिली है और हमें इसके लिए संघर्ष करना पड़ा है!

वहीं अभिनेत्री ने कर्तव्य पथ के उद्घाटन के बारे में बात करते हुए कहा है कि यह पत्र कर्म का पथ है यह कई पीढ़ियों के लिए एक उदाहरण है और वह इस राह पर चलेगी अगर आप राजपथ नाम रखते हैं तो यह लोगों के लिए एक उदाहरण के तौर पर नहीं रहेगा लेकिन कर्तव्य पथ कर्म का मार्ग है जो लोगों के लिए मार्गदर्शक का काम करेगा!

Leave a Reply

Your email address will not be published.