देश

उत्तराखंड के उधम सिंह नगर में बढ़ती मुस्लिम आबादी, देवभूमि के स्वरूप को मिटाने का प्रयास तेज

Increasing Muslim population in Udham Singh Nagar, Uttarakhand, efforts to eradicate the nature of Devbhoomi intensified

उत्तराखंड के उधम सिंह नगर जिले में हरिद्वार के बाद सबसे तेजी से बढ़ती मुस्लिम आबादी है। आंकड़ों के अनुसार उधम सिंह नगर में 2022 तक लगभग 7 लाख मुस्लिम आबादी होगी। बता दें कि उधम सिंह नगर राज्य का एक मैदानी जिला है।

भौगोलिक दृष्टि से यह उत्तर प्रदेश के पीलीभीत, बरेली, रामपुर, मुरादाबाद, बिजनौर जिलों से जुड़ा हुआ है। यहां यह भी ध्यान देने योग्य बात है कि यूपी के इन जिलों में भी मुस्लिम आबादी पहले से ज्यादा है। ऐसे में रोजगार की तलाश में यूपी के इन जिलों के मुसलमान ऊधमसिंह नगर में आकर बस रहे हैं.

2001 की भारत की जनगणना के अनुसार, उधमसिंह नगर की जनसंख्या 1235614 थी, जिसमें से 2,55,000 मुसलमान थे। 2011 में जिले की जनसंख्या 1648902 थी, जिसमें से 22.58 प्रतिशत यानी 372267 मुस्लिम आबादी थी। लेकिन ताजा जानकारी के मुताबिक 2022 में मुस्लिम आबादी बढ़कर 33.40 फीसदी होने वाली है।

सरकारी अनुमान के अनुसार ऊधमसिंह नगर की जनसंख्या 1912726 और मुस्लिम जनसंख्या लगभग 7 लाख होने का अनुमान है। जानकारी के अनुसार पिछली हरीश रावत सरकार के दौरान जिले में सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी बढ़ी थी।

जिले की किच्छा सीट से चुनाव लड़ने से पहले वह यहां की मतदाता सूची में अपने सेवकों से मुस्लिम वोट बढ़ाने के अभियान में शामिल थे, लेकिन शर्त उलट गई क्योंकि योगी आदित्यनाथ ने यहां आकर सारा समीकरण बदल दिया. हरीश रावत मुख्यमंत्री रहते हुए भी विधानसभा चुनाव हार गए थे।

राज्य में हिंदू जनसंख्या की वृद्धि दर 11.9 प्रतिशत है, जबकि मुस्लिम विकास दर असम के बाद सबसे अधिक 14 प्रतिशत है। लेकिन उधम सिंह नगर में मुस्लिम आबादी की वृद्धि दर 34 से 35 प्रतिशत रहने की उम्मीद है, जो चिंताजनक वृद्धि दर कही जा सकती है.

उत्तराखंड के यूपी से सटे इस सीमावर्ती जिले में न सिर्फ मुस्लिम आबादी बढ़ रही है, बल्कि मस्जिद-मजारों में भी इजाफा हो रहा है. जबकि कानून यह है कि किसी भी धार्मिक स्थल को बनाने से पहले जिलाधिकारी से अनुमति लेना जरूरी होता है। मुस्लिम श्रमिक बस्तियों में मस्जिद-मज़ार किसकी अनुमति से बनवाया गया था? यह सवाल और जांच का विषय है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button