Breaking News

UP: उर्स मेले में प्रसाद के नाम पर नॉनवेज बिरयानी खिला दी

In the Urs fair, non-veg biryani was fed in the name of prasad: उत्तर प्रदेश आजकल हर किसी का फोकस किसी राज्य पर है चाहे फिर वह चुनाव को लेकर हो या फिर किसी खबर को! और आखिरकार हो भी क्यों ना क्योंकि उत्तर प्रदेश से ऐसे कई सारे मामले सामने आते रहते हैं जिसको जाने के बाद हर कोई हरा नहीं जाता है और अब एक ऐसा ही मामला उत्तर प्रदेश के महोबा से आ रहा!

उर्स मेले का मामला

दरअसल पिछले महीने 31 अगस्त को पीर बाबा के उर्स में 13 गांव के लोगों को आमंत्रित किया गया था! उर्स का यह मेला चरखारी कोतवाली के सालट गांव में पिछले 6 साल से लगता आया है यह हिंदू बहुल क्षेत्र है और इस समारोह में आसपास के मुस्लिमों के साथ-साथ हिंदू भी बड़ी संख्या में भाग लेने आते हैं लेकिन इस बार का आमंत्रण प्रसाद के नाम पर नॉन वेज बिरयानी के कारण वि वाद का रूप ले लिया!

ऐसे हुआ बवाल

ऐसे में गांव के बाहर बनी पीर बाबा की मजार पर उर्स के आयोजन में हिस्सा लेने आए हिंदुओं को धोखे से नॉन वेज बिरयानी खिला दी गई वह भी प्रसाद के नाम पर! न तो प्रसाद बांटने वाले और न ही प्रसाद बनाने वाले ने यह घोषणा की कि बिरयानी में भैंस का मां स मिलाया गया है! ऐसे में हिंदू श्रद्धालु भी छल से बिरयानी को प्रसाद के रूप में खाने लगे! खाने के दौरान जब उन्हें मां स और ह ड्डियां मिलीं तो हंगामा हो गया!

प्राथमिकी दर्ज

इस मामले में 23 नामजद समेत 43 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है! कल्लू, शहादत, चुट्टन, रमजान, राशिद, मुन्ना, पप्पू, मजीद, नजीर, कमरुद्दीन, हजरत, बशीर, राजू, अंसार, अकरम, साबिर, शरीफ, समीम, यूनुस, युसूफ, भूरा और मुन्ना के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी! इसके अलावा 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ धोखा धड़ी समेत कुछ अन्य धाराओं में भी रिपोर्ट दर्ज कराई गई है!

Check Also

Google ने दिया भारत की जनता को बड़ा तोहफ़ा, सबसे प्राचीन भाषा संस्कृत समेत भोजपुरी, और मैथली भाषा को गूगल ट्रांसलेट में शामिल किया।

जैसा की आप सबको मालूम है संस्कृत हमारी सभ्यता की सबसे पुरानी भाषा है और …

Leave a Reply

Your email address will not be published.