बॉलीवुड

अमिताभ ना होते तो कोमा में चले जाते शोले फिल्म के गब्बर सिंह, अमिताभ ने निभाई पक्की दोस्ती, ऐसे बचाई थी जान

If Amitabh had not been there, Gabbar Singh of Sholay would have gone into a coma, Amitabh played a strong friendship, in this way his life was saved

बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता अमिताभ बच्चन और जाने-माने विलेन गब्बर सिंह यानी कि अमजद खान की फिल्म शोले को आखिरकार किसने नहीं देखा होगा! इन दोनों की बीच की फाइट को कोई भूल भी नहीं सकता है ऐसे में अब फिल्म के अंदर जितनी गहराई के साथ इन्होंने दुश्मनी की शूटिंग की थी लेकिन उतनी ही गहराई के साथ दोनों ऑफ स्क्रीन पर रियल जिंदगी में दोस्ती निभाते थे! वही लगभग 15 फिल्मों में एक साथ काम करने के बाद अमजद खान और अमिताभ बच्चन के बीच एक गहरा रिश्ता बन गया था वहीं गब्बर के नाम से प्रसिद्ध अमजद खान के साथ एक बार एक ऐसा वाक्य हो गया था जिससे उनकी और उनके परिवार की जा न खतरे में पड़ गई थी यह वाकया उस समय का है जब अमिताभ बच्चन ने हीरो की तरह एंट्री ली थी और अमजद खान को मौ त के मुंह से बचाया था!

दरअसल फिल्म गेमलर की शूटिंग थी और उस समय सेट पर अमिताभ बच्चन से पहले ही शूटिंग में व्यस्त थे! वहीं दूसरी और अमजद खान को भी अपने सीन को निपटाना था लेकिन उस दिन किसी वजह से अमजद खान ट्रेन या फ्लाइट को नहीं पकड़ पाए थे और ऐसे में उन्होंने बाय रोड ही जाने का फैसला ले लिया था वही परिवार भी उनका उन्हीं के साथ था ऐसे में पूरा सफल अच्छा गुजर रहा था लेकिन गोवा पहुंचने के कुछ किलोमीटर पहले ही अमजद खान की कार का एक्सी डेंट हो गया!

वहीं इस पूरे मामले का जिक्र अन्नू कपूर ने अपने रेडियो के शो पर किया था वही यह मामला भी काफी बड़ा था ऐसे में आसपास के लोग भी वहां मौजूद इकट्ठा हो गए थे और अमजद खान को उनके पूरे परिवार के सहित अस्पताल तक पहुंचा दिया गया था जिसके बाद परिवार में सब ठीक ठाक थे लेकिन ऐसे में अमजद खान को खू न की कमी आ गई थी अब ऐसे में खबर फिल्म के सेट तक जा पहुंची और अमिताभ बच्चन जी को इस बात के बारे में जैसा ही पता चल गया तो वह तुरंत ही गोवा के उस अस्पताल में पहुंच गए!

उसके बाद अमिताभ बच्चन जैसे ही उनसे मिले तो उनको बताया गया कि अमजद खान के परिवार वाले भी इसी हॉस्पिटल में एडमिट है और कोई नहीं है वही अमजद खान के लिए कुछ पेपर्स पर भी साइन करना है ऐसे में अमजद खान की हालातों काफी ज्यादा खराब थी उनके फेफड़ों में और अंदरूनी गुम चो ट आई हुई थी कहा तो यह भी जा रहा था कि यदि ज्यादा देर भी हो जाती तो अमजद खान उस समय कोमा में चले जाते हैं! ऐसे में वहां पर कोई भी उन पेपर पर साइन करने को तैयार नहीं था और फिर अचानक से अमिताभ बच्चन जैसे ही अस्पताल में आए तो वह अपनी दोस्ती के रिश्ते को निभाते हुए उन्होंने उन पेपर पर साइन कर दी इसके बाद वहां के डॉक्टर ने बताया है कि अमजद खान का खू न बहुत बह चुका है उनको उसकी भी आवश्यकता होगी तो अमिताभ बच्चन ने उनको अपना ही खू न देकर फरिश्ते के रूप में उनकी जा न बचाई थी!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button