अजब-गजब

सरसों के तेल पर भारत सरकार का अहम फैसला, देशभर में घटाए गए हैरतअंगेज दाम

Government of India's important decision on mustard oil, surprising prices reduced across the country

जैसा कि आपको मालूम नहीं है कि पिछले कुछ दिनों से खाने के तेल में कमी देखने को मिल रही है दरअसल आयात शुल्क के अंदर कमी हुई है जिसके चलते खाने के तेल की कीमत में भी पिछले 1 महीने में 8 से ₹10 प्रति किलोग्राम की गिरावट देखी गई है! वही ASE के प्रेसिडेंट अतुल चतुर्वेदी का कहना है कि पाम, सोया और सूरजमुखी जैसे सभी तेलों की बहुत ऊंची अंतरराष्ट्रीय कीमतों के चलते पिछले कुछ महीनों के अंदर भारतीय खाद्य तेल कंजूमर के लिए काफी ज्यादा परेशानी भरा रहा है!

वहीं सूत्रों के अनुसार, सोयाबीन तेल सीपीयू फॉर्मलीन सहित सभी तेल के भाव पूर्व स्तर पर ही बंद है! वही मंत्रालय से मिल रही जानकारी के अनुसार एडिबल ऑयल और ऑयलसीड के स्टोर के लिए जल्द ही नया पोर्टल भी लॉन्च किया जा रहा है! वही इस पोर्टल के अंदर 13 प्रकार के तेल और सीट की जानकारी मिलेगी इतना ही नहीं बल्कि इसके अंदर तिलहन की कीमतों और स्टॉक की डिटेल प्रत्येक सप्ताह अपडेट होती रहेगी वहीं सरकार के इस फैसले के चलते जमाखोरों पर भी निगरानी रखी जा सकेगी!

बताया तो यह जाता है कि बीते सप्ताह सरसो दाने का भाव ₹300 की गिरावट के साथ 8500 प्रति क्विंटल रह गया है जो कि पिछले सप्ताह ₹8800 प्रति किलो हुआ करता था! वहीं अगर सरसों दादरी तेल के भाव की बात की जाए तो पिछले सप्ताह के मुकाबले ₹550 की गिरावट देखी गई है!

इतना ही नहीं बल्कि सरसों पक्की घनी और कच्ची घानी के तेल की कीमत में भी ₹75-75 की गिरावट देखी गई हैं! सूत्रों ने कहा कि समीक्षाधीन सप्ताहांत के दौरान सोयाबीन अनाज और सोयाबीन की कीमतें 175-175 रुपये की गिरावट के साथ क्रमश: 6,375-6,475 रुपये और 6,225-6,275 रुपये प्रति क्विंटल रह गईं!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button