देश

“हमें रिफ्यूजी कार्ड दो, बसाओ व नौकरी का अधिकार भी” दिल्ली में अफगानी शरणार्थियों की मांग

"Give us the refugee card, the right to settle and also the job" Demand of Afghan refugees in Delhi

अफगानिस्तान की कई शरणार्थी ने नई दिल्ली में संयुक्त राष्ट्र हाई कमिश्नर फॉर रिफ्यूजीस के सामने विरोध करना शुरू कर दिया उन्होंने मांग कर डाली है कि सभी शरणार्थीयों को रिफ्यूजी कार्ड दिए जाए! साथ ही उन्होंने किसी विकासशील देश में उनको बसाई जाने की योजना लाने की भी मांग की है! अपने मुल्क में तालिबान से बचकर आए अफगान शरणार्थियों ने यूनाइटेड नेशन कमिश्नर फॉर रिफ्यूजीस एवं भारत सरकार से सुरक्षा का आश्वासन भी मांगा है!

भारत में अफगानिस्तान शरणार्थियों के प्रमुख अहमद जिया गनी ने इस मामले में बात करते बताया है कि देश में फिलहाल 21000 अफगान शरणार्थी हैं! उन्होंने यह भी कहा है कि अब इनके पास अपने मुल्क लौटने का कोई रास्ता ही नहीं बचा है! उन्होंने कहा है कि अब शरणार्थियों के पास नौकरी एवं शिक्षा जैसी सुविधाएं नहीं हैं उन्होंने लोंग टर्म वीजा की मांग की है! भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस पर कहा है कि भारत में आने वाले शरणार्थियों को ई-वीजा दिया जाएगा!

अब ऐसी स्थिति में भारत सरकार यहां आने की इच्छा रखने वालों को आपात स्थिति के तहत वीजा प्रदान कर सकते हैं जो पहले 6 महीने के लिए याद रहेगा! ऑनलाइन याचिकाओं पर नई दिल्ली ने विचार किया जाएगा! हालांकि भारत में यूएन रिफ्यूजी कन्वेंशन पर हस्ताक्षर नहीं किए थे!

वही अफगान शरणार्थी जरीफा का कहना है कि हम 2016 में यहां पहुंचे थे हम कनाडा में फिर से बचना चाहते हैं मैं पढ़ना चाहती हूं अब अफगानिस्तान वापस जाना हमारे लिए संभव नहीं है तालिबान हमारी ह त्या कर देगा! वही एक और शरणार्थी मसला का कहना है कि वह अमेरिका में फिर से बचना चाहती हैं वह अपने परिवार के साथ पिछले 7 सालों से भारत में रह रही हैं!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button