देश

हिंदू इलाकों में पर्चे बँटवाती, मुस्लिम लड़कों से शादी करवाती: उज्जैन की शातिर शिरीन हुसैन से मिलिए

मध्यप्रदेश के उज्जैन में यूनाइटेड इंटरनेशनल ह्यूमन राइट्स ट्रस्ट में पैसे लेकर नियुक्ति की गई तो इस मामले में शिरीन हुसैन को हिरासत में लेने के बाद कई जानकारी सामने आई है! दरअसल, वह अखबारों में पैम्पलेट डालकर महिलाओं को फँसाने का कार्य करती थी! जिसके चलते इन पम्पलेट को हिंदू इलाको में बाटा जाता था! बता दे कि पैम्पलेट में वह महिला उत्पी ड़न जैसे मामलो में पुलिस द्वारा FIR दर्ज न करने जैसे मामलों में आवाज उठाने का दावा करती थी!

ऐसे में शिरीन खुद लोगों से संपर्क करती थी। वह घरेलू हिं सा से परेशान लोगों से संपर्क करती थी और उत्पी ड़कों से संपर्क करके उन्हें ब्लैक मेल करती थी। वह उनसे मोटी रकम वसूल करता था। शिरीन को 11 सितंबर को नागझिरी पुलिस ने धारा 420, 468, 471 और 506 के तहत गिर फ्तार किया था। शिरीन खुद को यूनाइटेड इंटरनेशनल ह्यूमन राइट्स ट्रस्ट का राष्ट्रीय महासचिव बताती थी, हालांकि उसे पहले ही बर्खास्त कर दिया गया था।

पुलिस ने उसे अदालत में पेश होने के बाद रविवार (12 सितंबर, 2021) को चार दिन के रि मांड पर लिया है। पूछताछ में शिरीन हुसैन भी पुलिस को बर गला रही है। मधु यादव पर कई आ रोप लगा रही हैं.

यूनाइटेड इंटरनेशनल ह्यूमन राइट्स ट्रस्ट ह्यूमन राइट्स की राष्ट्रीय अध्यक्ष लखनऊ, उत्तर प्रदेश की रहने वाली मधु यादव ने बताया कि शिरीन हुसैन 2019 में उनके संगठन से जुड़ी थीं. तब शिरीन हुसैन को मध्य प्रदेश राज्य का सचिव नियुक्त किया गया था. लेकिन शिरीन हुसैन को संगठन की अन्य महिला सदस्यों से वि वाद के बाद नियुक्ति के दो-तीन महीने बाद ही हटा दिया गया था। उसने 60-60 हजार रुपये लेकर 30 लोगों से नियुक्ति पत्र और पहचान पत्र जारी किए थे. मधु यादव ने अपने खिलाफ कार्रवाई को लेकर छह सितंबर को उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव को ज्ञापन सौंपा था.

रिपोर्ट के मुताबिक, वह शादी के लिए मुस्लिम लड़कों को हिंदू लड़कियों से मिलवाती थी। पुलिस इसकी भी जांच कर रही है। शिरीन हुसैन इतनी चालाक है कि वह बुजुर्ग और अधेड़ उम्र के लोगों की शादी का ठेका लेती थी। वह लड़कियों से मेल खाता था और शादी के नाम पर पैसे लेता था। इसके बाद वो बच्चियां बड़ों के खिलाफ के स करवातीं और पैसे वसूल करतीं. पुलिस इन आ रोपों की भी जांच कर रही है।

लोगों के बीच अपना रुतबा कायम करने के लिए शिरीन हुसैन सोशल मीडिया पर अधिकारियों के साथ तस्वीरें पोस्ट करती थीं. गिर फ्तारी से कुछ दिन पहले ही वह उज्जैन में कुछ शीर्ष अधिकारियों से मिली थीं। शिरीन के गिरफ्तार होते ही कांग्रेस और मुस्लिम नेता उसे बचाने के लिए सक्रिय हो गए हैं. इन सभी के शिरीन के घर के बाहर लगे सीसीटीवी फुटेज में कैद होने का ड र है। शिरीन हुसैन के घर से कुछ संदिग्ध दस्तावेज भी मिले हैं, जिसकी पुलिस जांच कर रही है।

शिरीन हुसैन की शादी अनम हुसैन से हुई है। इन दोनों की ये दूसरी शादी है. गुमनाम राजनीतिक कार्यक्रमों में साउंड सिस्टम लगाने का काम करता है। शादी के बाद दोनों ने खूब पैसा जमा किया है। अनम और शिरीन लग्जरी कारों में सफर करते हैं। उनके नेताओं और बड़े लोगों से भी संबंध हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button