बॉलीवुड

अपने शुरुआती समय में निर्माताओं की शर्तों पर काम करना पड़ा था धर्मेन्द्र को, आईए जानते है धर्मेंद्र की दिलदारी से जुड़ा एक किस्सा

बॉलीवुड इंडस्ट्री में आए दिन प्रोड्यूसर और अभिनेता के बीच नोक झोंक होती रहती है, कभी फीस को लेकर तो कभी स्क्रिप्ट को लेकर। इतना ही नही, इस इंडस्ट्री में एक बार ऐसा भी दौर आया था, जब एक अभिनेता को निर्माताओं के शर्तो के ऊपर काम करना पड़ा था। यह अभिनेता और कोई नही अभिनेता धर्मेंद्र थे, पर उन्होंने शर्तो के बावजूद उन्होंने बिना झिझक किए अपनी दिलदारी दिखाईं और काम किया, आईए जानते है इससे रिलेटेड पुरी बात।

हम बात कर रहे है अर्जुन हिंगोरानी निर्देशित फिल्म ‘दिल भी तेरा, हम भी तेरे’ की शूटिंग के समय की। आपकी जानकारी के लिए बता दें, यह उनकी टैलेंट हंट प्रतियोगिता के माध्यम से बॉलीवुड में एंट्री लेने के बाद की पहली फिल्म थी। एक्टिंग करने के लिए बेताब धर्मेन्द्र पर इस फिल्म को लेकर एक शर्त रखी गई थी, और यह शर्त कुछ इस तरह थी, कि उन्हें इस फिल्म के लिए उनकी पूरी कमाई का 60 प्रतिशत ही मिलेगा और वो बिना इजाजत किसी और की फिल्म साइन नहीं कर सकते। अगर फिर भी वो किसी अन्य निर्माता की फिल्म करते हैं तो उन्हें उस फिल्म से होने वाली कमाई का 50 प्रतिशत निर्माता को देना होगा। इन सब से बीना एतराज किए उन्होने शर्त मान ली और शूटिंग पे लग गए।

इसी दौरान उन्हे निर्देशक रमेश सहगल की फिल्म, ‘शोला और शबनम’ का ऑफर मिला, लेकिन इस फिल्म में भी उन्हें उसी शर्त का सामना करना पड़ा। इस पर धर्मेंद्र ने अपने दोस्त अर्जुन हिंगोरानी से बात की, तो उन्होंने धर्मेंद्र को बिहारी मसंद के शर्त को याद दिलाते हुए यूं कह कर अपनी राय दी, ‘तुम दूसरी फिल्म कर रहे हो? इसका अंजाम जानते हो?

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Parth Krishna 🏹 (@ng_writes_1)

इसके जवाब में धर्मेंद्र कहते है, ‘अंजाम क्या होना है। दोनों को कमाई का आधा आधा हिस्सा दे दूंगा’। जब आगे उनसे कहा गया की इसके बाद आपके पास क्या बचेगा, तो उन्होंने कुछ इस तरह कह कर अपनी दिलदारी दिखाईं, ‘मुझे तो बस फिल्मों में काम करना है, पैसे नहीं बचे तो भी क्या हुआ। फिल्म तो बनकर रिलीज हो जाएगी’।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button