राजनीति

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुलायम सिंह पर कसा तंज, तो अखिलेश यादव उतर आए मैदान में, बोले- भाषा पर संतुलन …

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने हाल ही में एक ब्यान दिया था जिस पर अब सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने शनिवार को एक कार्यक्रम में पूर्व सांसद राजपाल सैनी, काजल निषाद, तूफानी निषाद, महामंडलेश्वर सत्य नंद गिरि के पार्टी में शामिल होने पर सीधे सीएम योगी पर भी निशाना साधा!

Akhilesh Yadav reply Yogi Adityanath statement: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने हाल ही में एक ब्यान दिया था जिस पर अब सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने शनिवार को एक कार्यक्रम में पूर्व सांसद राजपाल सैनी, काजल निषाद, तूफानी निषाद, महामंडलेश्वर सत्य नंद गिरि के पार्टी में शामिल होने पर सीधे सीएम योगी पर भी निशाना साधा!

इस दौरान अखिलेश यादव का कहना है कि “मुख्यमंत्री किसी और भाषा को जानते हैं, उनके कानों तक किसानों की भाषा नहीं पहुँचती! वो तो चुनावों को दूसरी ओर ले जाना चाहते हैं! मैं बस इतना कहना चाहता हूँ कि भाजपा के मुख्यमंत्री को अपनी भाषा पर संतुलन रखना चाहिए!”

सपा प्रमुख यही नहीं रुके बल्कि उन्होंने आगे कहा कि केंद्र और राज्य में बीजेपी सरकार के बाद भी सबसे ज्यादा परेशान किसान हैं! ऐसे कानून लाए गए हैं कि भविष्य में सरकार किसानों की जमीन पर कब्जा कर लेगी!

मूल मुद्दे पर वापस अखिलेश-

वही, समाजवादी पार्टी के प्रमुख अपने मूल मुद्दे पर वापसी करते हुए कहते है कि मैं बस इतना कहना चाहता हूँ कि भाजपा के मुख्यमंत्री को अपनी भाषा पर संतुलन रखना चाहिए! कल मैंने उनका एक इंटरव्यू सुना! हमारा आपका मुद्दों पर झगड़ा हो सकता है! लेकिन मुख्यमंत्री अपनी भाषा पर संयम रखें अगर वो मेरे पिता जी को कुछ कहेंगे तो मैं भी उनके बारे में कुछ कह सकता हूँ! मुख्यमंत्री मेरे पिता जी के बारे में ऐसी भाषा का इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं? मुख्यमंत्री को अपनी भाषा पर संतुलन रखना चाहिए! मेरे पिता जी के बारे में कहेंगे तो अपने पिता के बारे में भी सुनने के लिए तैयार रहें!

मुख्यमंत्री ने क्या कहा था?

दरअसल उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने समाजवादी पार्टी के ऊपर तंज कसते हुए कहा था कि उनके अब्बाजान यानी कि मुलायम सिंह यादव कहते थे कि वहां परिंदे को भी पर नहीं मा र सकते लेकिन अब वहां पर राम मंदिर का निर्माण शुरू भी हो गया है और अगले 3 साल में वहां पर एक बड़ा मंदिर होगा! वही अखिलेश यादव की 400 सीटें जीतने के दावे पर मुख्यमंत्री ने चुटकी लेते हुए कहा था कि मैं तो हैरान हूं उन्होंने 500 सीट क्यों नहीं बोला अब जब बोलना ही है तो कुछ भी बोल दे, सपने देखने का सब को हक है!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button