Breaking News

अकल आए ठिकाने, अकाली दल का यू-टर्न: अब CAA के समर्थक बने

हाल ही में मोदी सरकार नागरिकता संशोधन कानून लेकर आई थी जिसका विरोध अकाली दल ने भी किया था और अब इसको लागू करने के साथ-साथ कानूनों में तिथि को आगे बढ़ाने की भी मांग कर रहे हैं दरअसल शिरोमणि अकाली दल के नेता और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने केंद्र सरकार से नागरिकता संशोधन कानून की कट ऑफ डेट को बढ़ाने की मांग की है!

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से सीएए की तारीख 2014 से बढ़ाकर 2021 करने का अनुरोध किया है ताकि अफगान संकट के बाद आए शरणार्थियों को इसका लाभ मिल सके!

अकाली दल के प्रवक्ता मनजिंदर सिंह सिरसा ने भी ट्विटर पर सरकार से अफगानिस्तान में फंसे हिंदू और सिख शरणार्थियों को वापस लाने का आग्रह किया। उन्होंने ट्वीट किया, “जैसे-जैसे स्थिति बिगड़ती जा रही है और अधिक से अधिक शहर तालिबान के हाथों में पड़ रहे हैं, अफगानिस्तान में रहने वाले अल्प संख्यक सिख और हिंदू अपनी सुरक्षा और धार्मिक स्वतंत्रता को लेकर चिंतित हैं। हम भारत सरकार से अफगानिस्तान में शेष हिंदुओं और सिखों की सुरक्षा और निकासी सुनिश्चित करने के लिए तत्काल कदम उठाने का अनुरोध करते हैं।”

हालांकि उनका बयान सामने आते ही लोगों ने उन्हें उनकी पार्टी अकाली दल द्वारा सीएए के विरोध की याद दिलाना शुरू कर दिया। एक ट्विटर यूजर ऋषि बागरी ने ट्वीट किया, “याद रखें कि कैसे सरदार डीएस बिंद्रा अपना फ्लैट बेच रहे थे और सीएए का विरोध करने वालों को खाना खिला रहे थे।”

एक यूजर ने साइकिल की फोटो डालकर कहा, “इसका भी स्टैंड है सिरसा!”

Check Also

Google ने दिया भारत की जनता को बड़ा तोहफ़ा, सबसे प्राचीन भाषा संस्कृत समेत भोजपुरी, और मैथली भाषा को गूगल ट्रांसलेट में शामिल किया।

जैसा की आप सबको मालूम है संस्कृत हमारी सभ्यता की सबसे पुरानी भाषा है और …

Leave a Reply

Your email address will not be published.